यूपी- किसानों के घर के पास से होगी गेहूं की खरीद, सीएम योगी के निर्देश पर बनेंगे 5000 से ज्यादा खरीद केंद्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वर्ष सभी बटाईदार किसानों से सरकारी केंद्रों को गेहूं खरीदने के निर्देश दिए हैं और साथ मे किसानों पंजीकरण मे सीलिंग ऐक्ट के नियमों के पालन का निर्देश दिए हैं।

यूपी के सीएम योगी ने 1 April से प्रदेश के अधिकारियों को गेहूं खरीने के लिए आदेश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों से एक बार फिर किसानों के कल्याण करने के लिए सरकारी खरीद सेंटर और स्टॉरिज गोदामों पर जियो टैगिंग कराने के भी आदेश दिए. उन्होंने अधिकारियों को बताया कि वो सुनिश्चित करें कि खरीद सेंटर और स्टॉरिज गोदामों पर किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न हो। भंडारण गोदाम हो या खरीद केंद्र, हर जगह पर गेहूं की सुरक्षा के लिए पूरी तरह व्यवस्था किया जाए।


पिछले वर्ष की अपेक्षा में इस वर्ष 50 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) 1,975 रुपये प्रति कुंतल निर्धारित किया गया है.

एक बयान के मुताबिक, सीएम योगी आदित्यनाथ विभागीय अधिकारियों के साथ में गेहूं की खरीद 2021-22 से संबंधित तय टाइम टेबल और प्रस्तावित खरीद नीति की समीक्षा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा था कि “नई नीति तय करते समय, यह ध्यान में रखा गया था कि जिन एजेंसियों के रिकॉर्ड अच्छे नहीं हैं, उन्हें काम नहीं दिया जाएगा.

छह हजार खरीद सेंटरों का इंतजाम

सीएम ने अधिकारियों को इस वर्ष जितना संभव हो -पॉप मशीनों की सहायता से बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के माध्यम से क्रय केंद्र पर गेहूं की व्यवस्था करने का आदेश दिया है. गेहूं खरीदने के लिए छह हजार खरीद सेंटरोंकी व्यवस्था किए जाने के आदेश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि गेहूं खरीद केंद्र की स्थापना के स्थानों का बड़े लेवल पर विज्ञापन कराया जाए.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वर्ष सभी बटाईदार किसानों से सरकारी केंद्रों को गेहूं खरीदने के निर्देश दिए हैं और साथ मे किसानों पंजीकरण मे सीलिंग ऐक्ट के नियमों के पालन का निर्देश दिए हैं।

यूपी के सीएम योगी ने 1 April से प्रदेश के अधिकारियों को गेहूं खरीने के लिए आदेश दिए हैं।
बयान के मुताबिक, उन्होंने विभागीय अधिकारियों को स्पष्ट आदेश दिए हैं, कि सभी खरीद केन्द्रों पर पूरी पारदर्शिता के साथ गेहूं खरीद कराया जाए.

किसानों की उपज का तय समय पर भुगतान करने का आदेश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि अप्रैल-मई के महीनें में गर्मी का मौसम होगा, साथ ही बारिश की संभावना भी होगी. ऐसे में खरीद केंद्रो पर छाजन, पेयजल, बैठने की व्यवस्था आदि होनी चाहिए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + nineteen =

Back to top button