यहां जानें अस्थमा की बीमारी,का घरेलू उपचार

अस्थमा एक खतरनाक बीमारी है। कहने को तो यह लाइलााज है लेकिन कुछ घरेलू उपचारों को आजमा कर इसे रोका जा सकता है। रिपोर्ट के अनुसार हर साल तकरीबन ढाई लाख मौतें इस बीमारी के कारण होती है।

अस्थमा फेफड़े से जुड़ी बीमारी है। इसमें सांस लेने में समस्या होती है। यह बीमारी किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का अनुमान है कि देश में लगभग 20 मिलियन अस्थमा के मरीज हैं। यह 5-11 साल के बच्चों को भी अपने चपेट में ले सकता है।आजकल प्रदूषण, धूम्रपान, मोटापा आदि के कारण सांस फूलने की समस्या आम बात होती जा रही है लेकिन कई बार ऐसी स्थिति आती है कि आपका सांस लेना मुश्किल हो जाता है। इससे जान भी जा सकती है। तो चलिए जानते हैं, अस्थमा को रोकने के घरेलू उपाय। इसे आप अपनाकर बीमारी पर काबू पा सकते हैं।

अदरक

एक्सपर्ट के मुताबिक अदरक में वायरस से लड़ने की क्षमता होती है। ये सांस फूलने की तकलीफ को दूर करता है। चाहे तो आप अदरक के टुकड़े को गर्म पानी में उबालकर, पानी गुनगुना हो जाने के बाद उसे पी सकते हैं। आप अदरक के टुकड़े को चबाकर भी खा सकते हैं।

एक्सरसाइज

अस्थमा के रोगियों को सांस लेने की एक्सरसाइज करना चाहिए। इससे तकलीफ दूर होने में कॉफी मदद मिलता है। ये एकसरसाइज करने से फेफड़े में फंसी हवा भी निकल जाती है और कंधे-गर्दन को भी आराम मिलता है।

ब्लैक कॉफी

इसमें कैफिन की वजह से श्वास नली के मांसपेशियों को आराम मिलता है। एक्सपर्ट के अनुसार ब्लैक कॉफी पीने से फेफड़े सही तरीके से काम करते हैं।

नींद

इस बीमारी में रोगियों को ज्यादा नहीं सोना चाहिए। अस्थमा के मरीज ज्यादा सोने से परहेज करें।

पौष्टिक आहार

भोजन में फल-हरी सब्जियां शामिल करें। मसालेदार और तैलीय भोजन को खाने से बचें। ऐसा डायट लें जो जल्दी पच जाये।

लहसुन

इस बीमारी में लहसुन का इस्तेमाल करना चाहिए। यह अस्थमा के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक होता है। चाहे तो आप पके हुए लहसुन को खा सकते हैं या दूध में लहसुन को उबाल लें फिर इसका सेवन करें।

अजवाइन

एक बाउल पानी में एक चम्मच अजवाइन डालें, फिर इस पानी को उबालें। पानी से उठती हुई भाप को लें। इससे अस्थमा में राहत मिलता है।

Related Articles

Back to top button