यहां जानें अपने वजन को घटने का ये आसन तरीका ..

ब्रेकफास्ट दिन का सबसे जरूरी मील माना जाता है तो इसे स्किप न करें। साथ ही उन चीज़ों को इसमें शामिल करें जिससे बॉडी को दिनभर के लिए एनर्जी मिल सके और सबसे जरूरी वजन कंट्रोल में रहे। तो आज इसी के बारे में जानेंगे।

वेट लॉस आज के समय में लोगों को सबसे बड़ा कंसर्न है। फूडी हैबिट्स के अलावा अनहेल्दी, बिजी लाइफस्टाइल और कई तरह की बीमारियों की वजह से भी लोग बढ़ते वजन से परेशान हैं। वैसे तो इसे कम करने के लिए हर कोई एक्सरसाइज करने की सलाह पहले देता है, लेकिन ये इतना सिंपल नहीं होता। तो अगर आप उन लोगों में शामिल हैं, जिनके लिए वर्कआउट करना एक बड़ा चैलेंज हैं तो आपको दूसरे ऑप्शन्स पर फोकस करना चाहिए और वो है खानपान पर नियंत्रण। जिसमें सबसे जरूरी है सुबह का नाश्ता। इन बातों का ध्यान रखकर आप कम समय में घटा सकते हैं कई किलो वजन।

1. ब्रेकफास्ट स्किप न करें

ब्रेकफास्ट स्किप करने की गलती न करें। अगर आपको लगता है ब्रेकफास्ट न करना वजन कम करने का एक आसान तरीका है, तो ये बहुत ही बड़ी भूल है। ब्रेकफास्ट न करने से आप भूख को कंट्रोल करने के लिए कुछ भी खाते रहते हैं, जो वजन घटाने की जगह बढ़ाने का काम करता है। दूसरा ब्रेकफास्ट न करने वाले लोग जाने-अंजाने में लंच बहुत ज्यादा कर लेते हैं और उसके बाद आलस, नींद के चलते किसी भी तरह की कोई एक्टिविटी नहीं हो पाती, जो बहुत बड़ी वजह है वजन बढ़ने के पीछे।     

2. हाई प्रोटीन डाइट पर करें फोकस

हाई प्रोटीन फूड आइटम्स लंबे समय तक आपका पेट भरा रखते हैं, जिससे बार-बार भूख नहीं लगती और इससे बेवजह के खानपान और ओवरइटिंग से बचा जा सकता है। जो वजन कंट्रोल में रखने का बहुत अहम भूमिका निभाते हैं। 

3. अंडा है अच्छा ऑप्शन

अंडे में प्रोटीन और दूसरे न्यूट्रिशन की अच्छी-खासी मात्रा मौजूद होती है लेकिन कैलोरी बहुत ही कम। तो अगर आप नॉन वेजिटेरियन हैं तब तो आपको इसे ब्रेकफास्ट में जरूर खाना चाहिए। इससे खाने से पेट भरा रहता है जिससे वजन काबू में रहता है। उबला अंडा सबसे हेल्दी और ईजी ऑप्शन है इसे कंज्यूम करने का।

4. नाश्ते में फाइबर की मात्रा भी है जरूरी

प्रोटीन के बाद दूसरी जरूरी चीज़ जो ब्रेकफास्ट में होनी चाहिए वो है फाइबर। फाइबर रिच डाइट भी पेट को भरा रखने के साथ पाचन को दुरुस्त रखते हैं। सबसे जरूरी कि फाइबर वाले खाद्य पदार्थ वजन और डायबिटीज़ दोनों को ही कंट्रोल में रखते हैं। फलों के अलावा साबुत अनाज में भी इनकी मात्रा मौजूद होती है।  

Related Articles

Back to top button