भारतीय नौसेना प्रमुख तीन दिवसीय यात्रा पर पहुचें ओमान,इस दौरे का मकसद प्रभावशाली खाड़ी देश के सैन्य संबंधों का  विस्तार करना है

नौसेना प्रमुख करमबीर सिंह तीन दिवसीय यात्रा पर रविवार को ओमान पहुंचे। इसका उद्देश्य प्रभावशाली खाड़ी देश के साथ द्विपक्षीय सैन्य संबंधों को और विस्तार देना है। अधिकारियों ने बताया कि 27-29 सितंबर तक की इस यात्रा में सिंह खाड़ी देश के शीर्ष सैन्य अधिकारियों से बातचीत करेंगे। वह अपने ओमानी समक्षक रियर एडमिरल सैफ बिन नासिर बिन मोहसिन अल राबी से भी मिलेंगे। नौसेना के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने बताया, ‘इस दौरे का मकसद ओमान के साथ द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत बनाना और सहयोग के लिए नए क्षेत्रों की तलाश करना है।’

उन्होंने बताया कि अल राबी के साथ बातचीत के अलावा सिंह का कार्यक्रम ओमानी सशस्त्र बल के चीफ आफ स्टाफ वाइस एडमिरल अब्दुल्ला खामिस अब्दुल्ला अल रइसी, शाही सेना के कमांडर मेजर जनरल मतार बिन सलीम बिन राशिद अल बलूसी तथा शाही वायुसेना के कमांडर एयर वाइस मार्शल खामिस बिन हम्माद बिन सुल्तान अल गाफरी से भी मिलने का है।उल्लेखनीय है कि भारतीय नौसेना कई मोर्चो पर ओमान की शाही नौसेना के साथ सहयोग करती है। दोनों नौसेनाएं वर्ष 1993 से द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास में हिस्सा लेती रही हैं।

भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने बताया, ‘‘इस दौरे का मकसद ओमान के साथ द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत बनाना और सहयोग के लिए नए क्षेत्रों की तलाश करना है।’’ उन्होंने बताया कि अल राबी के साथ बातचीत के अलावा सिंह का कार्यक्रम ओमानी सशस्त्र बल के चीफ ऑफ स्टाफ वाइस एडमिरल अब्दुल्ला खामिस अब्दुल्ला अल रइसी, ओमान की शाही सेना के कमांडर मेजर जनरल मतार बिन सलीम बिन राशिद अल बलूसी तथा शाही वायुसेना के कमांडर एयर वाइस मार्शल खामिस बिन हम्माद बिन सुल्तान अल गाफरी से भी मिलने का है। उन्होंने बताया कि इस दौरान वह मुआसकर अल मुर्तफा शिविर, नौवहन सुरक्षा केंद्र, साद बिन सुल्तान नौसैन्य अड्डा, अल मुसन्ना वायुसेना अड्डा तथा ओमान के नेशनल डिफेंस कॉलेज जैसे महत्वपूर्ण रक्षा प्रतिष्ठानों में भी जायेंगे ।

भारतीय नौसेना कई मोर्चों पर ओमान की शाही नौसेना के साथ सहयोग करती है जिसमें अभियानों के संबंध में बातचीत और प्रशिक्षण शामिल है। दोनों नौसेनाएं 1993 से द्विपक्षीय नौसैन्य अभ्यास में हिस्सा लेती रही हैं । पिछली बार यह अभ्यास 2020 में गोवा के तटों पर हुआ था और अगला अभ्यास 2022 में होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + three =

Back to top button