बिहार: पोर्न वीडियो और तस्वीरें भेज कर ग्राहकों को फंसाती थी महिला, हुआ बड़ा खुलासा

मुजफ्फरपुर के सर सैयद कॉलोनी में चल रहे सेक्स रैकेट मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। पता चला है कि सोशल साइट पर लड़कियों के पोर्न वीडियो और तस्वीरें भेज कर ग्राहकों को फंसाया जाता था। यह कुकृत्य करने वाली कोई और नहीं बल्कि एक महिला ही है। पुलिस ने उसकी पहचान कर ली है।   धंधेबाज महिला किरण अपने पति दिलीप के साथ मिलकर गरीब और मजबूर लड़कियों को फंसाती थी और रुपये का लालच देकर उनकी पोर्न तस्वीरें और वीडियो बना लेती थी। फिर वही वीडियो ग्राहकों को भेज कर रेट तय किया जाता था।  फिर उन्हें मुजफ्फरपुर सर सैयद कॉलोनी में बुलाकर जिस्मफरोशी का धंधा चलाया जा रहा था। सोमवार की देर रात गिरफ्तार शराब माफिया दीपक और हिरासत में ली गई पटना की युवती से पूछताछ में यह अहम खुलासा हुआ है।

जिस्मफरोशी का वीडियो बेचकर भी धंधेबाज करते थे कमाई 

मुजफ्फरपुर पुलिस ने पूर्वी चंपारण के चकिया में भी छापेमारी की है। फिलहाल दिलीप और उसकी पत्नी किरण फरार है जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।  अहियापुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार रजक ने बताया कि पुलिस अपने बयान पर एफआईआर दर्ज करके इस मामले में करवाई कर रही है। उन्होंने बताया है कि सर सैयद कॉलोनी से पकड़ी गई युवती  पटना में एक मॉल में काम करती थी। उसकी एक दोस्त ने पूर्वी चंपारण के चकिया निवासी दिलीप से उसका परिचय कराया था। युवती से पूछताछ के मुताबिक दिलीप और किरण नई लड़कियों की खूब खातिरदारी करते हैं और रुपए का लालच देकर उनसे गलत काम करवाते हैं। बहला-फुसलाकर इसका वीडियो भी बना लिया जाता है और उस वीडियो को बेच कर भी रुपए कमाए जाते हैं।

ग्राहक फिक्स हो जाने पर लड़कियों को बुलाया जाता था

छानबीन में पता चला है कि दिलीप और किरण के संपर्क में बहुत सारी लड़कियां हैं जिनको ग्राहक फिक्स हो जाने के बाद बुलाया जाता है। लड़कियों को इसके एवज में पांच सौ से एर हज़ार रुपये दिया जाता है। बता दें कि सोमवार की रात अहियापुर थाना के सर सैयद कॉलोनी में स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस ने छापामारी की थी जहां से एक युवती और शराब कारोबारी दीपक को पुलिस ने पकड़ा था। युवती का नाबालिग भाई भी वहीं मौजूद था। मुजफ्फरपुर पुलिस ने दीपक को जेल भेज दिया है जबकि युवती और उसका  भाई अभी भी पुलिस हिरासत में हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × one =

Back to top button