पूर्व PM इमरान खान ने कहा-बारिश हो या गर्म मौसम, चोरों के खिलाफ मेरा संघर्ष जारी रहेगा

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पीटीआइ के अध्यक्ष इमरान खान (PTI President Imran Khan) ने कहा कि बारिश हो या गर्म मौसम, ‘चोरों’ के खिलाफ उनका संघर्ष जारी रहेगा। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, झेलम शहर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि वह पाकिस्तान में कानून की सर्वोच्चता के लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, मैंने कानून और संविधान की सीमाओं में रहते हुए 26 साल तक संघर्ष किया है।

शरीफ और जरदारी परिवारों के बारे में बात करते हुए, खान ने दावा किया कि देश पर शासन करने से पहले पाकिस्तान शीर्ष पर था।

जियो न्यूज ने बताया, नवाज शरीफ ने देश को लूटा और अब हमें बता रहे हैं कि क्या करना है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि बाढ़ ने बलूचिस्तान, सिंध और खैबर पख्तूनख्वा को प्रभावित किया है। बारिश से हुई पूरी तबाही के बाद प्रांत कैसे इस स्थिति से उभरेंगे?

उन्होंने कहा, बारिश से हुई पूरी तबाही के बाद प्रांत कैसे सरप्लस अनाज पैदा करेंगे? केपी के वित्त मंत्री तैमूर खान झगरा दो महीने से वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल से मिलने के लिए कह रहे हैं।

पीटीआइ अध्यक्ष ने कहा कि सरकार को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (international monetary fund) के साथ बातचीत करनी चाहिए। शाहबाज शरीफ (Shahbaz Sharif) और मिफ्ता इस्माइल कहते हैं कि हमारी वजह से आइएमएफ के कार्यक्रम में देरी होगी।

पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार से यह भी सवाल किया कि वह देश के लिए क्या कर रही है क्योंकि बाढ़ की चेतावनी बहुत पहले आ चुकी थी। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, सरकार बाढ़ से निपटने के लिए नीतियां बनाने के बजाय साजिश कर रही थी।

सहयोगी दलों को फटकार लगाते हुए, खान ने दावा किया कि वे नहीं जानते कि सरकार कैसे चलाई जाती है और देश पर पीडीएम लगाया गया है।

खान ने कहा कि यह साजिश उनके खिलाफ नहीं है बल्कि देश के लोकतंत्र को कमजोर करने के लिए है, उन्होंने कहा कि [सरकार] पीटीआइ को घेर रही है और मुझे अपात्र बनाने की कोशिश कर रहा है।

Related Articles

Back to top button