धौलपुर नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों ने 8 सूत्री मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा, मांगे नहीं माने जाने पर कार्य बहिष्कार की चेतावनी

राजस्थान के धौलपुर नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों ने राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी मजदूर यूनियन के बैनर तले नगर परिषद सभापति और आयुक्त को आठ सूत्री मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के माध्यम से सफाई कर्मचारियों ने लम्बे समय से चली आ रही मांगो को स्वीकृत करने की मांग की है। सफाई कर्मचारियों ने मांगे नहीं माने जाने पर कार्य बहिष्कार की भी चेतावनी दी है।

सफाई कर्मचारी मजदूर यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष मोहन सिंह थनवार में बताया कि नगर परिषद में तैनात सफाई कर्मचारियों की मांगें पिछली लंबे समय से लंबित चली आ रही है। करोना महामारी के दौर में सफाई कर्मचारियों ने जान जोखिम में डालकर शहर सहित जिला अस्पताल की सफाई व्यबस्था सुद्रण रखने में महत्ती भूमिका रही है। जिला अस्पताल के कोविड वार्ड से लेकर शमशान घाट तक की जिम्मेदारी निभाई है। कोरोना महामारी से मृत लोगों के अंतिम संस्कार तक सफाई कर्मचारियों ने जान जोखिम में डालकर किए हैं।

उसके बावजूद जिला प्रशासन एवं नगर परिषद द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। सफाई कर्मचारियों ने बताया आठ सूत्री मांगे उनकी पिछले लंबे समय से बनी हुई। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 का बोनस का भुगतान नहीं हुआ है। वित्तीय वर्ष 2020 की वर्दी का भुगतान भी नहीं किया है। वित्तीय वर्ष 2021 का समर्पित अवकाश का भुगतान नहीं हुआ है। ठेका सफाई कर्मचारियों को भारी कम वेतन दिया जा रहा है। सफाई कर्मचारियों ने ठेका कर्मचारियों के लिए सात हजार वेतन की मांग की है। शुक्रवार को सफाई कर्मचारियों में आक्रोश भड़क गया। सफाई कर्मचारियों ने नगर परिषद कार्यालय के सामने नगर परिषद प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। नगर परिषद सभापति एवं आयुक्त को ज्ञापन सौंप कर सफाई कर्मचारियों ने लंबित मांगों को लागू करने की मांग की है। चेतावनी देते हुए कहा अगर नगर प्रशासन ने लंबित मांगो को मानने मान्य नहीं किया तो कार्य बहिष्कार कर अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी।

धौलपुर से राकेश गोस्वामी की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − two =

Back to top button