“देश के पैसे की लूट की असली कहानी”! सुजरेवाला ने साझा की बैकों की ‘डिफॉल्टर लिस्ट’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अपने एक ट्वीट में बिना नाम लिए मोदी सरकार पर निशाना साधा है। रविवार को सुरजेवाला ने ट्वीट कर ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन की तरफ से जारी की गई एक डिफॉल्टर लिस्ट (Bank defaulter) को शेयर किया है। इस लिस्ट में भारत के 17 बैंकों में डिफॉल्टर ग्राहक और उनके द्वारा लिए गए लोन की राशि का जिक्र है। इस ट्वीट के साथ सुरजेवाला ने कैप्शन में लिखा, ‘देश के पैसे की लूट की असली कहानी!’

सुरजेवाला की ओर से ट्वीट की गई लिस्ट के अनुसार, देशभर के 17 बैकों से 2 हजार 426 लोगों ने 1 लाख 47 हजार 350 करोड़ का लोन ले रखा है। बैंक से लोन लेने के बाद इन लोगों ने खुद को दिवालिया घोषित कर दिया है और लोन की राशि को वापस देने से मना कर दिया।

बैंक की लिस्ट पर एक नजर

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया- 685 लोगों ने करीब 43,887 करोड़ का लोन ले रखा है.
पंजाब नेशनल बैंक – 325 लोगों पर 22.370 करोड़
बैंक ऑफ बड़ौदा- 355 लोगों पर 14,661 करोड़
बैंक ऑफ इंडिया- 184 लोगों पर 11,250 करोड़
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया- 69 लोगों पर 9,663 करोड़
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया- 128 लोगों पर 7,028 करोड़
यूको बैंक- 87 लोगों पर- 6,813 करोड़
ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स-138 लोगों पर 6,549 करोड़
कैनरा बैंक- 96 लोगों पर 5,276 करोड़
आंध्रा बैंक-84 लोगों पर 5,165 करोड़
इलाहाबाद बैंक-57 लोगों पर 4,339 करोड़
इंडियन ओवरसीज बैंक-49 लोगों पर3,188 करोड़
कॉर्पोरेशन बैंक-58 लोगों पर2,450 करोड़
इंडियन बैंक-27 लोगों पर 1,613 करोड़
सिंडिकेट बैंक-36 लोगों पर 1,438 करोड़
बैंक ऑफ महाराष्ट्र- 42 लोगों पर 1,405 करोड़
पंजाब एंड सिंध बैंक- 6 लोगों पर 255 करोड़

सुरजेवाला के ट्वीट का मतलब क्या है?

इस ट्वीट के जरिए रणदीप सुरजेवाला मोदी सरकार को बैंक की खस्ता हालातों के लिए जिम्मेदार बताने की कोशिश कर रहे हैं. कांग्रेस पहले से ही आरोप लगाती आई है कि नरेंद्र मोदी सरकार के दौरान विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे बड़े कारोबारी देश के बड़े बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगाकर देश से फरार हो गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − 3 =

Back to top button