दीपावली में करें इन चीजों की खरीदारी..

ज्योतिष शास्त्र में नक्षत्रों के चाल और उनसे होने वाले लाभ के विषय में विस्तार से बताया गया है। बता दें कि अक्टूबर मास में पुष्य नक्षत्र योग में खरीदारी करने से सभी लोगों को विशेष लाभ मिलने वाला है।

 आज यानि 18 अक्टूबर 2022 के दिन 5 अत्यंत शुभ योग का निर्माण हो रहा है। ज्योतिष विद्वान यह बताते हैं कि इस योग का निर्माण पिछले 200 वर्षों में नहीं हुआ है। बता दें कि आज यानि मंगलवार के दिन सूर्योदय के साथ दुर्लभ मंगल पुष्य नक्षत्र प्रारम्भ हो चुका है। ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि इस विशेष योग में खरीदारी करने से व्यक्ति को लम्बे समय तक लाभ प्राप्त होता है। आज के दिन चल-अचल सम्पत्ति, वाहन, ज्वेलरी या कपड़े खरीदना जातक के लिए अत्यंत शुभ माना जाता है।

लम्बे समय तक मिलेगा लाभ

ज्योतिष शास्त्र में पुष्य नक्षत्र को अत्यंत शुभ माना जाता है। साथ ही इसे शास्त्रों में अमरेज्य यानि जीवन में स्थिरता और अमरता लाने वाला नक्षत्र बताया गया है। बता दें कि इस नक्षत्र में शुरू किए गए कार्यों का फल लम्बे समय तक सकारात्मक मिलता है।

करें इन चीजों की खरीदारी

  • पुष्य नक्षत्र में सोना, चांदी, बर्तन खरीदने की परम्परा लम्बे समय से चली आ रही है। लेकिन सोना खरीदने से आपको लम्बे समय तक लाभ प्राप्त होगा।
  • इस नक्षत्र में गाड़ी या स्कूटर खरीदने से भी लाभ मिलता है। माना जाता है कि इससे आपका वाहन लम्बे समय तक चलता है।
  • इसके साथ यह भी बताया गया है कि इस दुर्लभ नक्षत्र में नौकरी या बिजनेस की शुरुआत करने से जातक को विशेष लाभ मिलता है। साथ ही तरक्की के कई रास्ते खुल जाते हैं।
  • मंगल पुष्य योग में माकन, प्लाट या खेती के लिए जमीन की खरीदारी करने से विशेष लाभ मिलेगा यह भी ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है।

इस अवधि में करें खरीदारी

ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि इस वर्ष 18 अक्टूबर को सुबह 04:25 से 19 अक्टूबर की सुबह 7:02 तक पुष्य नक्षत्र का समय रहेगा। ऐसे में इस अवधि में खरीदारी करने से भक्तों को विशेष लाभ मिलेगा और उनके सभी कार्य सफल होंगे। केवल इस बात का ध्यान रखें कि राहुकाल में किसी भी प्रकार की खरीदारी न करें। ऐसा करने से गम्भीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है।

मगल पुष्य नक्षत्र में करें ये उपाय

मंगल पुष्य नक्षत्र को अत्यंत शुभ माना जाता है इसलिए इस अवधि में पूजा-पाठ करने से भी विशेष लाभ प्राप्त होता है। जातक को इस दिन आर्थिक बाधाओं को दूर करने के लिए श्रीसूक्‍त का 108 बार पाठ करना चाहिए। इसके साथ इस नक्षत्र में भगवान शिव और उनके परिवार की पूजा करने से वैवाहिक जीवन में सुख-समृद्धि आती है।

Related Articles

Back to top button