दीपावली तक चम्पावत की सुचारू होगी पेयजल व्यवस्था

नगर के लिए बनने वाली क्वैराला पंपिंग योजना का ट्रायल पन्द्रह दिन में शुरू हो जाएगा। योजना का 95 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिया गया है। दीपावली तक योजना का पानी नगर के लोगों को मिलने लगेगा। हालांकि योजना के तैयार होने में काफी बिलंब हुआ है। अलबत्ता योजना के अस्तित्व में आने के बाद नगर की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा।

बजट की कमी के कारण जिला मुख्यालय की महत्वांकाक्षी क्वैराला घाटी पेयजल योजना का निर्माण तय समय पर भले ही पूरा नहीं हो पाया हो, लेकिन अब अक्टूबर माह तक योजना न केवल पूरी तरह अस्तित्व मे आ जाएगी बल्कि पानी का वितरण भी शुरू कर दिया जाएगा।  30 करोड़ 88 लाख की लागत से बनने वाली योजना का निर्माण जून 2016 में शुरू हुआ था जिसे अगस्त 2018 में पूरा करना था, लेकिन बार-बार बजट का पेंच फंसने से निर्माण कार्यों में तेजी नहीं आ पाई।

योजना से जुड़े भैरवा और ब्लाक आफिस के पास टैंकों का काम काफी पहले ही पूरा हो चुका। पंपिंग योजना के पाइप लाइन बिछाने का कार्य भी लगभग पूर्ण हो चुका है। कार्यदायी संस्था जल निगम के ईई वीके पाल ने बताया कि योजना का 95 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। पांच फीसदी कार्य इलेक्ट्रिकल संबंधी बचा है। अब तक 29 करोड़ 16 लाख रुपये का बजट अवमुक्त हो चुका है। जबकि शेष कार्य के लिए 1.78 करोड़ रुपये की मांग और की गई है। उन्होंने बताया कि आने वाले 15 दिन के भीतर योजना का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा। ट्रायल सफल रहने के बाद नवंबर माह में दीपावली तक योजना से नगर के लिए पानी की सप्लाई शुरू कर दी जाएगी।

ईई जल निगम वीके पाल का कहना है कि क्वैरालाघाटी पंपिंग योजना का 95 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। पन्द्रह दिन के भीतर ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा। ट्रायल सफल रहने के बाद इसी वर्ष नवंबर माह के पहले सप्ताह तक नगर के लिए पेयजल की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी। योजना के अस्तित्व में आने के बाद नगर की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × one =

Back to top button