जानिए जब लंबे समय तक भूखे रहते हैं, तो क्या होता है?

 करवा चौथ का व्रत बड़े उत्साह के साथ रखा जाता है लेकिन इसके बाद कई लोग पाचन से जुड़ी समस्या से भी जूझते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो घर का बना जूस या नारियल पानी में फाइबर होता है जो शरीर को एनर्जी देता है।

शादीशुदा महिलाओं के लिए करवा चौथ का दिन बेहद खास होता है। इस त्योहार को खुशी और उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं अपने पति की सेहतमंद और लंबी उम्र के लिए कामना करती हैं और व्रत रखती हैं।

महिलाएं कम से कम 12 से 14 घंटों का उपवास रखती हैं, जिसमें पानी भी नहीं पिया जाता। हालांकि, व्रत खोलने पर कई लोगों को पेट से जुड़ी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि व्रत में पूरा दिन पानी न पीने से शरीर में पानी की कमी होने लगती है, तो सेहत को नुकसान पहुंचाने लगता है।पोषण विशेषज्ञ का कहना है कि लंबे समय तक भूखे रहने से हमारा पाचन तंत्र जो एंज़ाइम्स का उत्पादन करता है, वे बनना बंद हो जाते हैं। आप अगर एक घंटे का भी उपवास करते हैं, तो इससे आपके पेट की सुरक्षात्मक श्लेष्मा परत पतली हो जाती है, जिससे पेट की दीवारें गैस और सूजन के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती हैं। इसलिए सलाह दी जाती है कि हम खुद को ऐसा खाना ही खिलाएं जो साधारण होने के साथ पचाने में भी आसान हो।

उपवास खोलते वक्त क्या करना चाहिए?

पानी पिएं

शरीर का हर अंग सही तरीके से काम करे इसके लिए पानी का सेवन सही रखें। लंबे समय तक व्रत रखने से शरीर में पानी की कमी होने लगती है, इसलिए पीएच स्तर को भी बनाए रखने की भी आवश्यकता होती है। व्रत को पानी की छोटी-छोटी घूंट के साथ खोलें और ध्यान रखें कि जल्दी से एक गिलास पानी न पी जाएं।

Related Articles

Back to top button