कोरोना के मामलों में फिर से देखने को मिली तेज वृद्धि, चार लाख के करीब पहुंची सक्रिय मामलो की संख्या

शुक्रवार को कोरोना के मामलों में फिर तेज वृद्धि देखने को मिली है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 45,352 नए मामले सामने आने से कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,29,03,289 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 3,99,778 हो गई है। वहीं 366 और मौतों के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,39,895 हो गई है। नए मामलों में 29,322 केस अकेले केरल के हैं। केरल में कोरोना के हालात ने सभी की चिंता बढ़ा रखी है।

केरल में हालात खराब क्‍या लगेगा लाकडाउन

केरल में संक्रमण पर लगाम नहीं लग पा रही है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक बीते 24 घंटे में केरल में संक्रमण के 29,322 नए मामले सामने आए जबकि 131 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्‍य में संक्रमितों का आंकड़ा 41.51 लाख से ज्‍यादा हो गया है जबकि मरने वालों की संख्‍या 21,280 हो गई है। हालांकि मुख्‍यमंत्री पिनाराई विजयन ने केरल में पूर्ण लाकडाउन लगाने से इनकार कर दिया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक उन्‍होंने कहा कि लाकडाउन लगाने से अर्थव्यवस्था और आजीविका के लिए बड़ा संकट पैदा हो जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- बच्चों को जोखिम में नहीं डाल सकते

केरल में महामारी के हालात को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने छह सितंबर से शुरू होने वाली 11वीं कक्षा की आफलाइन परीक्षा कराने के राज्य सरकार के फैसले पर एक हफ्ते के लिए रोक लगा दी है। सर्वोच्‍च अदालत ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण केरल में हालात चिंताजनक हैं। देशभर में संक्रमण के कुल मामलों में से करीब 70 फीसद अकेले केरल में हैं। ऐसे में बच्चों को जोखिम में नहीं डाला जा सकता है। अदालत ने यह भी कहा कि लगता है कि राज्य सरकार ने परीक्षा कराने के लिए मौजूदा हालात पर गंभीरता से विचार नहीं किया है।

देश में कोरोना की स्थिति

24 घंटे में नए मामले 45,352

कुल सक्रिय मामले 3,99,778

24 घंटे में टीकाकरण 54.81 लाख

कुल टीकाकरण 67.56 करोड़

(आंकड़े स्वास्थ्य मंत्रालय के)

तेजी से फैल रही महामारी, आर-वैल्यू में भारी उछाल

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक महामारी कितनी तेजी से फैल रही है इसका संकेत देने वाली आर-वैल्यू पिछले एक पखवाड़े में तेजी से बढ़कर 1.2 के करीब पहुंच गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि केरल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में मामलों में बढ़ोतरी के चलते यह प्रभावित हुई है। इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमैटिकल साइंसेज चेन्नई के वैज्ञानिकों के मुताबिक 24 से 29 अगस्त के बीच की गई गणना के अनुसार देश में आर-वैल्यू 1.17 हो गई जबकि 14 से 17 अगस्त के बीच यह 0.89 पर मौजूद थी।

शुक्रवार सुबह 08:00 बजे तक कोरोना की स्थिति

नए मामले 45,352

कुल मामले 3,29,03,289

सक्रिय मामले 3,99,778

मौतें (24 घंटे में) 366

कुल मौतें 4,39,895

ठीक होने की दर 97.45 फीसद

मृत्यु दर 1.34 फीसद

पाजिटिविटी दर 2.72 फीसद

सा.पाजिटिविटी दर 2.66 फीसद

जांचें (गुरु) 16,66,334

कुल जांचें (गुरु) 52,65,35,068

मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने में देरी पर सुप्रीम कोर्ट नाखुश

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कोरोना से मरने वालों के परिजनों को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए दिशानिर्देश तैयार करने में देरी पर भी नाराजगी जताई और केंद्र सरकार को 11 सितंबर तक अनुपालन रिपोर्ट दाखिल करने के आदेश दिए। अदालत ने मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए दिशानिर्देश तैयार करने में देरी पर नाराजगी जताते हुए कहा कि हमने बहुत समय पहले आदेश पारित किया था। हम पहले ही एक बार डेडलाइन को बढ़ा चुके हैं। ऐसा लग रहा है कि जब तक आप दिशानिर्देश तैयार करेंगे तब तक तो महामारी का तीसरा चरण भी समाप्त हो जाएगा।

टीकाकरण का आंकड़ा 67.65 करोड़ के पार

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में शुक्रवार तक कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की 67.65 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं। देश में शुक्रवार को वैक्‍सीन की 51,88,894 खुराक दी गईं। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत से लेकर अब तक सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18-44 आयु वर्ग के 26,66,03,686 लोगों को पहली जबकि 3,20,41,597 को दूसरी खुराक दी गई।

शुक्रवार शाम 08:00 बजे तक किस राज्य में कितने टीके

महाराष्ट्र 7.00 लाख

उत्तर प्रदेश 10.56 लाख

मध्य प्रदेश 1.43 लाख

गुजरात 4.38 लाख

राजस्थान 1.57 लाख

पंजाब 1.15 लाख

झारखंड 1.36 लाख

बिहार 0.62 लाख

दिल्ली 1.41 लाख

छत्तीसगढ़ 0.37 लाख

हरियाणा 1.77 लाख

उत्तराखंड 0.84 लाख

जम्मू-कश्मीर 0.47 लाख

हिमाचल 0.28 लाख

(कोविन प्लेटफार्म के आंकड़े)

राज्यों के पास 4.36 करोड़ से अधिक डोज

एएनआइ के अनुसार स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास 4.36 करोड़ से अधिक शेष और अप्रयुक्त कोरोना वैक्सीन के डोज अभी भी उपलब्ध हैं। सभी स्रोतों के जरिये अब तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 65 करोड़ से अधिक वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं। जल्द ही 1,20,95,700 और डोज मिलने वाली हैं। कोरोना टीकाकरण का नया चरण 21 जून से शुरू हुआ है। इसके लिए केंद्र सरकार राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को मुफ्त में टीके उपलब्ध करा रही है। 

 

रिलायंस की वैक्‍सीन के ट्रायल को मंजूरी

इस बीच देश के औषधि महानियंत्रक (Drugs Controller General of India, DCGI) ने शुक्रवार को रिलायंस लाइफ साइंसेस को उसकी स्‍वदेशी कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन के पहले चरण के क्लिनिकल ट्रायल के लिए कुछ शर्तों के साथ मंजूरी दे दी है। यही नहीं बायोलाजिकल-ई को भी पांच साल से अधिक उम्र के बच्चों और किशोरों पर उसकी कोरोना वैक्सीन के दूसरे और तीसरे फेज के ट्रायल को मंजूरी दे दी गई है। हैदराबाद स्थित फार्मास्यूटिकल्स कंपनी की कोविड वैक्‍सीन का नाम कार्बिवैक्स है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × two =

Back to top button