आइए जानते है आखिर कैसे करें, कर भुगतान की मुश्किलों को दूर

आइए जानते है आखिर कैसे करें, कर भुगतान की मुश्किलों को दूर:-

माना वित्तीय वर्ष(2019-20) का निर्धारण वर्ष (2020-21) के लिए दिए गए निम्नलिखित से:-

57 वर्षीय वेतन भोगी निवासी व्यक्ति श्री ‘अ’ के कर योग्य आय एवं देय आयकर की गणना निम्नवत आकड़ों के आधार पर रहते हैं जो कि लखनऊ में 7000 रुपये मासिक किराये के मकान में रहते हैं।

वेतन से सकल आय

  • वेतन (Pay)                                                                                           रुपये 520000
  • महगाईं भत्ता(D.A.)                                                        रुपये    45000
  • मकान किराया भत्ता(HRA)                                            रुपये    28800
  • शहर प्रतिकर भत्ता(CCA)                                              रुपये      4320

             Total= 598120

             मानक कटौती धारा 16(IA)                               –  50000

                                                                                               Total= 548120

बचत/निवेश

  1. धारा 80सी के अंतर्गत
  1. जी.पी.एफ. में जमा                           रुपये 70000
  2. जी.आई.एस. में जमा                          रुपये  2400
  3. पी.पी.एफ. में जमा                            रुपये  40000
  4. 5 वर्षीय डाकघर सावधि जमा                   रुपये  10000
  5. गृह निर्माण अग्रिम का भुगतान(मूलधन)                 रुपये  10000
  6. एल.आई.सी. में अंशदान                        रुपये  20000

                    Total= 1,52,400

अन्य धाराओं के अंतर्गत निवेश:-

  1. धारा 80जी. के अंतर्गत राष्ट्रीय रक्षा कोष मे दान- 5000
  2. धारा 80डी के अंतर्गत आश्रित पत्नी, बच्चों, हेतु- रुपये 15000 मेडिकल बीमा प्रीमियम का भुगतान
  3. धारा 80डीडी बी के अंतर्गत आश्रित पिता रुपये 40000 की विशेषाकृत बीमारी(कैंसर) के इलाज पर वास्तविक व्यय की राशि

प्राप्त मकान किराया भत्ता(HRA) मे से कटौती योग्य धनराशि की गणना:-

HRA निम्न राशियों में सबसे कम धनराशि कर मुक्त होगा-

  1. वास्तविक प्राप्त मकान किराया भत्ता(HRA) रुपये= 28800
  2.   वेतन+महगाईं भत्ता का 10% से अधिक भुगतान किया गया किराया
    अर्थात (7000*12) रुपये 84000(-1)  565000*10 रुपये- 27500
                                                                          100
    अर्थात रुपये 84000(-) रुपये 56500
  3. कर योग्य आय की गणना
    सकल वेतन
    घटाइए धारा 10(13)ए के अंतर्गत      रुपये 548120

प्राप्त HRA में अनुमन्य                    (-) 27500

कटौती/छूट                          520620

घटाइए धारा 80सी के अंतर्गत अनुमन्य    – 150000

अधिकतम कटौती                      370620

(घटाइए) धारा 80डी के अंतर्गत आश्रित पत्नी एवं बच्चों के चिकित्सा बीमा प्रीमियम का  भुगतान                  (-) रुपये 15000

                                   355620

घटाइए धारा 80डीडीबी के अंतर्गत आश्रित पिता के कैंसर के इलाज पर वास्तव में किया गया भुगतान                          (-) रुपये 40000

                                                            रुपये- 315620

घटाइए धारा 80जी के अंतर्गत राष्ट्रीय रक्षा
   कोष मे दान                    (-) रुपये- 5000

            शुद्ध कर योग्य आय             =   3,10,620

आयकर आगणन:-

रुपये 250000   तक                   शून्य

रुपये 250000 से रुपये 3,10,620 तक    रुपये 3031

5% (60,3200 का 5%)

  1. देय आयकर                 रुपये 3031
  2. धारा 87A के अंतर्गत राहत-    रुपये 3031
  3. शुद्ध देय आयकर              रुपये- शून्य
  4. स्वास्थ्य एवं शिक्षा उपकर 4%+  रुपये- शून्य

कुल देय आयकर-      शून्य

किस प्रकार 80के अंतर्गत होने वाली कटौती और किस प्रकार हम इनका लाभ ले सकते हैं

  1. यदि पति/पत्नी तथा आश्रित बच्चों के स्वास्थ्य बीमा या निवारक स्वास्थ्य परीक्षण के लिए अधिकतम रुपए 25000 (बीमाकृत व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक 60 वर्ष या अधिक होने की स्थिति में रुपए 50000) की कटौती अनुमन्य होगी।
  2. हिंदू अविभाजित परिवार की स्थिति में परिवार के किसी सदस्य को स्वास्थ्य बीमा या चिकित्सा उपचार खर्च की स्थिति में अधिकतम कटौती रुपए 25000 (यदि परिवार का सदस्य वरिष्ठ नागरिक 60 वर्ष या अधिक होने की स्थिति में रुपए 50000) की कटौती अनुमन्य होगी।
  3. स्वयं पति/पत्नी माता-पिता आश्रित बच्चों के निवारक स्वास्थ्य परीक्षण के लिए किया गया कुल भुगतान अधिकतम ₹5000 तक कटौती के लिए पात्र होगा।
  4. आयकर अधिनियम की धारा 80dd  के अंतर्गत दिव्यांग आश्रितों का वर्ष में किए गए चिकित्सा संबंधी खर्च में अधिकतम रुपए 75000/- तथा गंभीर रूप से बीमारियों में दिव्यांग व्यक्ति की स्थिति में रुपए 125000 कटौती अनुमन्य है।
  5. आयकर अधिनियम की धारा 80डीडीबी के अंतर्गत करदाता को या हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) को कुछ विशिष्ट, भयानक बीमारी, (न्यूरोलॉजिकल डिजीज कैंसर, एड्स क्रॉनिक, रिनल फैल्योर, हीमोफीलिया थैलेसीमिया) से पीड़ित स्वयं के लिए या परिवार के किसी सदस्य के इलाज के लिए वर्ष में वास्तव में व्यय की गई धनराशि या रुपये 40000 जो भी कम हो की कटौती अनुमन्य है। यदि करदाता या आश्रित वरिष्ठ नागरिक 60 वर्ष या अधिक है, तो वास्तव में भुगतान की गई धनराशि या रुपये 100000 जो भी कम हो, कटौती योग्य होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 2 =

Back to top button