आंगनवाड़ी भर्ती में किन  उम्मीदवारों का आवेदन कर दिया जाएगा रद्द

बच्चों के विकास में उनके शुरुआती छ: वर्षों का बहुत महत्व होता है। ग्रामीण इलाकों में रोजगार की कमी- गरीबी जैसे कई कारणों से बच्चों की परवरिश आदि पर इन सब का बुरा प्रभाव पड़ता है। कई बार बालक कुपोषण आदि का शिकार भी हो जाते हैं। ऐसे में पूरे भारत में समेकित बाल विकास सेवाओं की शुरुआत की गई थी। जिसके कुशल संचालन के लिए आंगनवाड़ी केंद्र स्थापित किए गए और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की नियुक्ति की गई है। अगर आप किसी सरकारी एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं और अपने एग्जाम की फ्री में घर बैठे पक्की तैयारी करना चाहते हैं तो ऐसे सभी अभ्यर्थी तुरंत सफलता डॉट कॉम पर चलाए जा रहे  FREE Current Affairs – Download Now कोर्स को ज्वॉइन कर सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवारों को केवल दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा।

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण, महिला स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं, बाल-विकास व भरण-पोषण आदि योजनाओं को बल देने के लिए हाल ही में प्रदेश के 58 जिलों से भी अधिक डिस्ट्रिक्ट में आंगनवाडी, मिनी आंगनवाडी और सहायिका के पदों पर भर्तियां निकाली गई थीं। इन भर्तियों के लिए ऑफलाइन मोड में आवेदन प्रक्रिया पूरी कराई गई है और उम्मीदवारों का उनकी मेरिट के आधार पर चयन किया जाना है। लेकिन यदि आवेदनकर्ताओं की आय निर्धारित आय से अधिक पाई जाती है तो ऐसी स्थिति में आवेदन निरस्त कर दिया जाएगा। 

क्या है आय से जुड़ा नियम 
आंगनवाड़ी भर्ती में आवेदन करने वाली ग्रामीण क्षेत्र की महिला उम्मीदवारों की वर्षिक आय 46,080 रुपये तथा शहरी इलाकों में 56,460 रुपये निर्धारित की गई है। यानि इससे अधिक आय वाले आवेदनकर्त्ता का आवेदन पत्र निरस्त किया जा सकता है। जब तक की उसे किसी अन्य वरियता नियमों की छूट न प्रदान की गई हो। 

कैसे शुरू करें तैयारी 
अगर आप भी घर पर रहकर अपनी प्रतियोगी परीक्षाओं की पक्की तैयारी करना चाहते हैं या अपने किसी भी एग्जाम का पूरा रिवीजन करना चाहते हैं तो आज ही सफलता द्वारा चलाई जा रही फ्री Class को ज्वॉइन कर सकते हैं या अभी Safalta-app डाउनलोड करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − 16 =

Back to top button