अब गुजरात के चुनावी मैदान में ओवैसी की एंट्री, BTW-AIMIM के बीच हुआ गठबंधन

हाल ही में बिहार में हुए विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के बाद अब ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने अब गुजरात में चुनाव लड़ने का ऐलान कर किया है। इसके लिए पार्टी ने व्यापक स्तर पर तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। विपक्षी दलों के वोट बैंक में सेंध लगने की वजह से हालाकिं यह खबर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लिए राहत भरी हो सकती है और इस खबर से गुजरात कांग्रेस मुसीबत भी बढ़ सकती है। गुजरात में आज भारतीय ट्राइबल पार्टी और ओवैसी की AIMIM पार्टी के बीच गठबंधन हो गया है। इस बात की जानकारी देते हुए बीटीपी के अध्यक्ष और आदिवासी नेता छोटू वसावा ने बताया कि आगामी स्थानीय निकाय चुनावों में दोनों ही पार्टियां ने गठबंधन करने का फैसला लिया है।

बीटीपी अध्यक्ष ने दी जानकारी  

गुजरात में दो विधायकों वाली पार्टी बीटीपी ने घोषणा की है कि उनकी पार्टी ओवैसी की पार्टी से गठबंधन करने जा रही है। फरवरी 2021 में होने जा रहे स्थानीय निकाय चुनावों में दोनों पार्टियां साथ लड़ेंगी। छोटूभाई वासा ने भरूच में पत्रकारों से बात करते हुए जानकारी दी कि ” स्थानीय निकाय चुनावों में दोंनों पार्टियां एकसाथ मिलकर चुनाव लड़ेंगीं”।

गठबंधन के बाद कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ी

AIMIM और भारतीय ट्राइबल पार्टी के गठबंधन की खबरों के बीच पहले से ही संकट से गुजर रही कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। पत्रकारों से बात करते हुए गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी ने बताया कि ”यह बीजेपी की हताश बी टीम है”। गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष सीआर पाटिल ने इस गठबंधन पर बोलते हुए बताया कि “पार्टियां को चुनाव लड़ने दीजिए। लोकतंत्र में सभी को चुनाव लड़ने का अधिकार है।

आपको बताते चलें कि आगामी दिनों में गुजरात में 6 नगर निगमों, 31 जिला पंचायत, 231 तहसील पंचायत और 51 नगरपालिका के चुनाव होने वाले हैं। इन्हीं चुनावों में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद में दोनों पार्टियां ने चुनावी समझौता किया है। इस समझौता के बाद कायस लगाए जा रहे हैं कि ये दोनों पार्टियां राज्य और अन्य बड़ी पार्टियों के गणित को बिगाड़ देंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + two =

Back to top button